Akbar Birbal Moral Story – आपने ये तो सुना होगा की “जो होता है अच्छे के लिए होता है।”

“Whatever Happens Is For Good”.

लेकिन हममें से ज्यादातर लोग इस बात को जानते तो है लेकिन इस बात को मानते नही है।

हमे इस बात पर विश्वास (Believe) नही होता है।आज की हमारी कहानी (Story) इसी बात पर है। हम अकबर (Akbar) और बीरबल (Birbal) की इस कहानी से सीखेंगे, में उम्मीद करता हु की आज की कहानी आपको Inspire करेगी।

Akbar Birbal Moral Story

Akbar Birbal moral Story Sk Motivational Quotes
sk motivational quotes image download

जो होता है अच्छे के
लिए होता है।

Sk Motivational Quotes Share

अकबर, बीरबल कहानी

ये कहानी है शाहजहाँ अकबर और उनके सबसे चतुर और बुद्धिमान मंत्री बीरबल की,

एक बार अकबर और बीरबल अपने कुछ सैनिकों के साथ जंगल जाते है शिकार करने के लिए,

अब होता ये है कि तलबार निकालते समय शाहजहाँ अकबर का अंगूठा कट जाता है, जिसे अकबर बोखला जाता है

और चिल्लाने लगता है जल्दी जाओ वेद को लेकर आओ मेरा अंगूठा कट गया है।

ये सुनकर बीरबल, महाराज अकबर के पास आते हैं और हस्ते हुये बोलते है

महाराज शांति रखो, जो होता है अच्छे के लिए होता है।

Follow us On Instagram Account

ये बात सुनकर अकबर को घुस्सा आ जाता है और अकबर बोलते घुस्से में बीरबल पर चिल्लाते हुए बोलते है

बीरबल क्या तूम पागल हो यहाँ मेरा अंगूठा कट गया

और तुम बोल रहे हो जो होता है अच्छे के लिये होता है।

अकबर घुस्से में सैनिकों से बोलते है एक काम करो वेद को बाद में लाना

पहले इस बीरबल को लेकर जाओ

और इसे रात भर कोड़े मारना और सुबह होते ही फाँसी दे देना।

Akbar And Birbal Moral Story

इतना बोलकर अब महराज अकबर अकेले ही शिकार पर चल देते है।

आगे जाकर कुछ आदिवासी जाल बिछाकर महाराज अकबर को पकड़ लेते है,

और उन्हें अपने काबिले में ले जाकर बांध देते है बली देने के लीये।

फिर अकबर को जब बलि देने के लिए ले जाया जाता है

तभी काबिले के सरदार की नजर अकबर के कटे हुए अंगूठे पर पड़ती है,

काबिले का सरदार बोलता है ये तो अशुद्ध है इसका अंगूठा कटा हुआ है,

हम इसकी बलि नही दे सकते छोड़ दो इसे।

For Daily Update Follow us On Facebook Page

अब अकबर को अपनी गलती का एहसास होता है और अकबर रोते हुए महल की तरफ भागता है

क्योकि सुबह होने बाली होती है और बीरबल को फाँसी लगने बाली होती है। अकबर भागते हुए महल पहुँचता है

और बीरबल के पास जाता है, बीरबल को उस टाइम फाँसी लगने ही बाली होती है।

अकबर वहाँ जाते है और बीरबल से माफी मांगते है ओर बोलते है

बीरबल तुम सही थे जो होता है अच्छे के लिए होता है

आज इस कटे हुये अंगूठे ने मेरी जान बचा ली,

और में कितना बेकार हु मेने तुम्हारी क्या हालात कर दी।

For Daily Update Follow us on Telegram

इतना सुनकर बीरबल बोलते है महाराज कोई बात नहीं जो होता है अच्छे के लिए होता है।

अब ये सुनकर अकबर को कुछ समझ नही आता ओर अकबर बीरबल से बोलता है

क्या तुम पागल हो, इसमे क्या अच्छा है अभी तुम्हे फाँसी लगने बाली थी।

ये सुनकर बीरबल बोलते है महाराज,

इसमे ये अच्छा है की अगर में आपके साथ गया होता तो आपकी जगह वो मेरी बलि चढ़ा देते।

इसीलिए कहते है जो होता है अच्छे के लिए होता है।

Summary of the Story –

जो होता है अच्छे के लिए होता है। अगर आज हमारे साथ कुछ बुरा हो भी रहा है

तो वो बुरा लग रहा है बुरा है नही,

आगे जाकर हमको पता चलता है की जो बुरा हुआ था वो भी अच्छे के लिए हुआ था।

इसलिये दोस्तो अगर आपके साथ अगर आज कुछ बुरा हो भी रहा है न तो आप उदास नही होना,

क्योकि आज आज आपको बुरा लग रहा है बुरा है नहीं।

जिस दिन दिल से मानने लग गए न की जो होता है अच्छे के लिए होता है

उस दिन से आपको किसी भी बात का या किसी भी काम का बुरा लगना बन्द हो जाएगा।

आपको ये कहानी केसी लगी, और आपने इससे क्या सीखा। हमे Comment करके जरूर बताइयेगा।

और अगर आपको लगता है कि आपके Relative में या फिर

आपके Friends में किसी को इस Story से उनकी Life में कुछ Change आ सकता है

तो Please उन्हें Share करें। आप Daily Update के लिए हमारे Telegram Group को

या फिर हमारे Facebook Page को follow कर सकते है।

😊 Thanks For Read This Story.